भीलवाड़ा – पहली यात्रा, लेखक राजीव रंजन दास दृष्टि

उफ़ ये दिल्ली की गर्मी .. उसमे भी शाम का भीड़-भाड़ का समय .. अगर आप ट्रेन पकड़ने की फ़िराक मे हैं तो कम से कम 3 घंटे का समय हाथ मे लेकर ही चलें तो बेहतर l अपने दो और सहकर्मी के साथ पिछले महीने की 6 तारीख को …

Continue reading